वरिष्ठ और विकलांग लोगों को घर पर लगेंगे बूस्टर डोज: दिल्ली स्वास्थ्य विभाग

Covid booster doses begin for frontline workers, senior citizens

Covid booster doses begin for frontline workers, senior citizens

नई दिल्ली, 12 जनवरी (दिल्ली सरकार): राजधानी दिल्ली में 60 से अधिक उम्र के लोगों को कोविड वैक्सीन के बूस्टर डोज सोमवार से लगने शुरू हुए। ताजा जानकारी के अनुसार अब दिल्ली सरकार वरिष्ठ नागरिकों और विकलांगों को उनके घर पर ही बूस्टर शॉट्स देगी।

एक वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारी ने आगे बताया कि यदि 60 वर्ष से अधिक आयु का कोई व्यक्ति बीमारी या विकलांगता के कारण बिस्तर पर है, तो उन्हें उनके घरों में तीसरी एहतियाती खुराक, यानी बूस्टर डोज दी जाएगी।

उन्होंने यह भी बताया कि दिल्ली सरकार ने पिछले साल ही वरिष्ठ नागरिकों और विकलांगों के लिए घर पर टीकाकरण शुरू किया था, लेकिन केंद्र सरकार के निर्देश पर, वे इस सेवा को अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाने में असमर्थ रहे।”अगस्त 2021 में, दिल्ली उच्च न्यायालय ने एक 84 वर्षीय वरिष्ठ नागरिक द्वारा एक याचिका के आधार पर केंद्र और दिल्ली सरकार को नोटिस जारी किया। वरिष्ठ महिला ने याचिका से अदालत को सूचित किया था कि वह टीकाकरण केंद्र नहीं जा पा रही है। वह गंभीर गठिया से पीड़ित है। याचिका में यह भी कहा गया है कि कई वरिष्ठ और अपाहिज नागरिक, जो कोविड -19 की चपेट में थे, उनके पास टीकाकरण केंद्र तक पहुंचने के लिए निजी परिवहन साधन नहीं था।

सितंबर में केंद्र ने राज्य सरकारों को निर्देश जारी किए कि वे “प्रतिबंधित गतिशीलता वाले लोग, जो टीकाकरण के लिए अपने घर से बाहर नहीं निकल सकते हैं, जैसे कि विकलांग, बुजुर्ग या विशेष आवश्यकता वाले लोग” उनके लिए घरों में टीकाकरण की व्यवस्था की जाए।पूर्वी दिल्ली जिले के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि सभी जिला अधिकारी वरिष्ठ नागरिकों तक पहुंच रहे हैं, जिन्होंने अपनी दूसरी खुराक के नौ महीने पूरे कर लिए हैं और अपना बूस्टर डोज ले रहे हैं। और वैसे लोग जो इस श्रेणी के तहत पात्र हैं, लेकिन अपने निकटतम टीकाकरण केंद्र तक पहुंचने में असमर्थ हैं, उनके लिए घर पर ही टीकाकरण की व्यवस्था की जायेगी।

उन्होंने यह भी कहा कि “उन वरिष्ठ नागरिकों को मैसेज भेजने के अलावा, जिन्होंने अपनी दूसरी खुराक के नौ महीने पूरे कर लिए हैं, हम फोन पर पात्र लोगों तक भी पहुंच रहे हैं और उनसे पूछ रहे हैं कि क्या उनके पास टीकाकरण केंद्र तक पहुंचने का साधन है या नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.