अब केंद्र सरकार तोड़ेगी दिल्ली के श्रीनिवासपुरी इलाके में अवैध नीलकंठ मंदिर

अब केंद्र सरकार तोड़ेगी दिल्ली के श्रीनिवासपुरी इलाके में अवैध नीलकंठ मंदिर

"आप" विधायक आतिशी कर रही पुरजोर विरोध

“आप” विधायक आतिशी कर रही पुरजोर विरोध

नई दिल्ली, अप्रैल 23 (दिल्ली क्राउन): देश भर में चल रही मंदिर-मस्जिद की राजनीति में आज अचानक एक नया मोड़ आ गया जब दिल्ली में आम आदमी पार्टी (आप) की विधायक आतिशी मर्लेना ने केंद्र सरकार द्वारा दक्षिणी-दिल्ली के श्रीनिवासपुरी इलाके में “अवैध” बनाये गए मंदिर को तोड़े जाने का पुर ज़ोर विरोध करने का ऐलान कर दिया।

केंद्र सरकार के “आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय” के एक अफसर ने दिल्ली हाई कोर्ट के एक आर्डर का हवाला देते हुए नोटिस जारी किया कि श्रीनिवासपुरी के आई-ब्लॉक में बना यह नीलकंठ महादेव मंदिर अवैध है, और सात दिन के बाद तोड़ा जाना है।

भाजपा-शाषित केंद्र सरकार के इस नोटिस को “आप” ने राजनितिक रूप देने का फैसला किया है, और आज 3:30 बजे आतिशी मर्लेना के नेतृत्व में “आप” एक विरोध प्रदर्शन करने जा रही है।

नोटिस में बताया गया है कि दिल्ली हाई कोर्ट ने इस मंदिर को अवैध घोषित कर दिया है, और इसको तोडना अनिवार्य है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.