दिल्ली पहुंची “लुम्पी स्किन” बीमारी, 170 से ज़्यादा मवेशी पाए गए बीमार

दिल्ली पहुंची "लुम्पी स्किन" बिमारी, 170 से ज़्यादा मवेशी पाए गए बीमार

दिल्ली पहुंची "लुम्पी स्किन" बिमारी, 170 से ज़्यादा मवेशी पाए गए बीमार

घुमन्हेड़ा, रेवला-खानपुर, गोयला-डेरी व नजफगढ़ में केस पाए गए

नई दिल्ली, 11 सितम्बर (दिल्ली क्राउन): गुजरात से शुरू हुई “लुम्पी स्किन” बिमारी, राजस्थान और उत्तर प्रदेश होते हुए अब दिल्ली में प्रवेश कर चुकी है। राष्ट्रीय राजधानी में पिछले दो दिनों में 170 से ज्यादा मवेशी इस बीमारी से ग्रस्त पाए गए हैं।

दक्षिण और दक्षिणी-पश्चिम दिल्ली के कई इलाकों, जिनमे घुमन्हेड़ा, रेवला खानपुर, गोयला डेरी व नजफगढ़ शामिल हैं, में ऐसे केस की पुष्टि हो चुकी है।

45 केस गोयला-डेरी में, 40 केस रेवला-खानपुर में, 21 केस घुमन्हेड़ा, 16 केस नजफगढ़ में, और एक-दो केस इन इलाकों से सटे गाओं में मिले हैं.

दिल्ली सरकार में मंत्री गोपाल राय की माने तो इस बीमारी से लड़ने के पुख्ता इंतज़ाम किये जा चुके है। उनके अनुसार, रेवला-खानपुर में एक “आइसोलेशन सेंटर” बनाया गया है जहाँ 40 मवेशियों को रखा गया है और उनका उपचार चालु है।

गोपाल राय ने कहा – “मवेशियों में बीमारी के संक्रमण पाए जाने पर लोग  8287848586 पर चौबीसों घंटे संपर्क कर सकतें हैं. बीमार जानवरों के इलाज के लिए 11 रैपिड रिस्पांस टीम गठित की गयी हैं। इन टीमों के सदस्य सैंपल इक्कठा करेंगे। इनके अलावा चार अन्य टीमें बनायी गयीं हैं जो इस बीमारी के बारे में लोगों की को जागरूक करेंगे।”

देश में अब तक 57,000 से ज्यादा मवेशी मर चुके हैं। सबसे ज्यादा मौतें राजस्थान (27,000) से रिपोर्ट हुई हैं।

पशुओं के डॉक्टरों के अनुसार, ये बीमारी मच्छरों और मक्खिओं के द्वारा मवेशिओं में फैलती है। केंद्र सरकार द्वारा दी गयी एक सलाह के अनुसार, जानवरों के आसपास साफ़ सफाई रखने से उनको बचाया जा सकता है। मच्छर व मक्खियों को मारने वाली दवाई छिड़कना और बिमारी से ग्रस्त जानवरों को अलग रखना भी एहितियाती कदम बताये गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.