समलैंगिक संबंधों का पर्दाफाश करने के डर से दिल्ली के कारोबारी ने कर्मचारी की हत्या की

Delhi businessman gets employee killed over fear of exposing homosexual relations

Delhi businessman gets employee killed over fear of exposing homosexual relations

नई दिल्ली, 2 फरवरी (दिल्ली क्राउन): दिल्ली के सरोजिनी नगर बाजार में एक कपड़ा दुकान के 36 वर्षीय मालिक को उसके कर्मचारी की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया गया।

दुकान का मालिक सहित दो अन्य, उसके भतीजे और भतीजे के दोस्त ने मिलकर कर्मचारी की हत्या कर उसके शव को सरोजिनी नगर मेट्रो स्टेशन के पास चार दिन पहले फेंक दिया था।

पुलिस को इस घटना की सूचना मिली और जांच के बाद सभी आरोपियों को गिरफ्तार लिया गया। पुलिस ने कहा कि दुकान के मालिक ने कथित तौर पर हत्या की योजना बनाई क्योंकि वह कर्मचारी के साथ समलैंगिक संबंध में था। लेकिन बाद में कर्मचारी ने गुप्त रूप से कुछ निजी वीडियो रिकॉर्ड किए और मालिक को ब्लैकमेल करना और उससे पैसे वसूल करना शुरू कर दिया।

पुलिस ने बताया कि दुकान के मालिक ने उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर के अपने 21 वर्षीय भतीजे और उसके दोस्त को हत्या को अंजाम देने में मदद करने के लिए शामिल किया।पुलिस उपायुक्त (दक्षिण पश्चिम) गौरव शर्मा ने कहा कि पुलिस को 29 जनवरी को सरोजिनी नगर मेट्रो स्टेशन के पास प्लास्टिक की चादर से ढके एक अज्ञात व्यक्ति के शव के बारे में सूचना मिली थी।

हालांकि मौके से कोई आईडी दस्तावेज नहीं मिला, स्थानीय खुफिया पुलिस के माध्यम से उसकी पहचान झारखंड के कोडरमा के शमशेर खान (22) के रूप में हुई, और पता चला कि वह सरोजिनी नगर बाजार में प्रेमबीर उर्फ प्रेमी के एक कपड़ा दुकान में काम करता था।

जांच के दौरान, डीसीपी शर्मा ने कहा, उन्हें पता चला कि खान अपने मालिक के साथ समलैंगिक संबंध में था और वह गुप्त रूप से रिकॉर्ड किए गए वीडियो के साथ उसे ब्लैकमेल कर रहा था। पुलिस ने यह भी बताया कि खान को आखिरी बार प्रेमबीर के साथ देखा गया था।

पुलिस के अनुसार प्रेमबीर से पूछताछ की गई जिस दौरान उसने बताया कि वह और उसका भतीजा पविंदर और उसके दोस्त रोहित तीनों ने मिलकर खान को मारा है। तीनों संदिग्धों को दिल्ली और बुलंदशहर के पास खुर्जा से गिरफ्तार किया गया।

पुलिस ने बताया कि पविंदर और रोहित 28 जनवरी को किराए की टैक्सी से खुर्जा से दिल्ली आए थे और युसूफ सराय के एक गेस्ट हाउस में दो कमरों में रुके थे। उसी शाम, प्रेमबीर ने खान को गेस्ट हाउस में फुसलाया, जहां उन्होंने कथित तौर पर एक कमरे में एक नायलॉन की रस्सी और मफलर से उसका गला घोंट दिया।

इसके बाद, उन्होंने कथित तौर पर खान की जैकेट, टोपी, बटुआ और जूते को उनके शरीर के साथ एक ट्रॉली बैग में डाल कर सरोजिनी नगर मेट्रो स्टेशन के पास फेक दिया।

एक आरोपी ने बताया कि “तीनों ने 19 जनवरी को गुप्त तरीके से खान को मारने की योजना बनाई थी। लेकिन गणतंत्र दिवस समारोह के कारण शहर में भारी पुलिस व्यवस्था के कारण उन्होंने योजना टाल दी।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.