गुरुग्राम में MTP किट बेचने का केस रिश्वत लेकर किया गया रफा दफा

गुरुग्राम में MTP किट बेचने का केस रिश्वत लेकर किया गया रफा दफा

गुरुग्राम में MTP किट बेचने का केस रिश्वत लेकर किया गया रफा दफा

उप-मुख्यमंत्री का जानकार बताया जा रहा है दवाईओं की दुकान का मालिक

गुरुग्राम, अप्रैल 22 (दिल्ली क्राउन): पुराने गुरुग्राम में झाड़सा रोड पर स्थित एक दवाईओं की दुकान पर खुले आम MTP किट (गर्भ गिराने की दवा) बेचने का केस पकड़ा गया, लेकिन स्थानीय पुलिस और स्वास्थ महकमों के कर्मचारियों ने रिश्वत लेकर मामले को रफा दफा कर दिया।

MTP किट (गर्भ गिराने की दवा) का डॉक्टर की लिखित प्रिस्क्रिप्शन के बिना बेचना एक दंडनीय अपराध है, और ऐसा करना सख्त वर्जित है।

बताया जा रहा है कि दवाईओं की दुकान के मालिक ने करीब दो लाख रूपए देकर अपना पीछा छुड़ाया। दवाईओं की दुकान का मालिक खुद एक डॉक्टर है और दुकान के साथ ही अपना क्लिनिक बना रखा है।

सूत्रों के अनुसार, पिछले हफ्ते स्वास्थ विभाग की एक महिला कर्मचारी को नकली ग्राहक बनाकर दवाईओं की दुकान पर भेजा गया। स्वास्थ विभाग की उस महिला कर्मचारी ने दुकान पर पहुँच कर एक MTP किट मांगी। वहां काम करने वाले एक लड़के ने, जिसका नाम सुजीत बताया जा रहा है, MTP किट लाकर उस महिला को दे दी और पेमेंट भी ले ली।

“खरीद-दारी” करने के बाद महिला कर्मचारी ने बहार खड़े सादी वर्दी में पुलिस कर्मचारियों और स्वास्थ विभाग में कार्यरत ड्रग इंस्पेक्टर और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को इशारा कर दिया।

इशारा करते ही सभी सरकारी कर्मचारियों ने दवाईओं की दुकान पर दबिश दे दी, और सुजीत नाम के उस लड़के को अपनी गिरफ्त में ले लिया।

जब पूरा मामला दवाईओं की दुकान के मालिक को मालूम हुआ तो उसने ताबड़तोड़ फ़ोन घुमाना शुरू किया। बताया जा रहा है दवाईओं की दुकान के मालिक का सीधा संपर्क हरियाणा के उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला से है। मामला उप-मुख्यमंत्री के संज्ञान में लाया गया, और जल्द ही मौखिक आदेश जारी किये गए की मामले को रफा दफा किया जाये।

लेकिन सरकारी कर्मचारियों ने भागते भूत की लंगोटी ले ही ली ! सूत्रों के अनुसार करीब दो लाख रूपए लेकर मामले को रफा दफा किया गया !!

Leave a Reply

Your email address will not be published.